Friday, 19 June 2015

ककड़ी के फ़ायदे

  1. कच्ची ककड़ी में आयोडीन पाया जाता है! गर्मी में पैदा होने वाली ककड़ी श्वस्थ्यवर्धक तथा वर्षा व शरद ऋतु की ककड़ी रोगकर मानी जाती है! ककड़ी स्वाद में मधुर , मुत्रकारक, वातकारक स्वादिष्ट तथा पित्र का शमन करने वाली होती है! 
  2. उल्टी, जलन, थकान, प्यास, रक्तविकार, मधुमेह में ककड़ी फायदेमंद है! 
  3. ककड़ी के बीच पानी के साथ पीसकर चेहरे पर लेप करने से त्वचा स्वस्थ व चमकदार होती है! 
  4. ककड़ी के रस में शक्कर या मिश्री मिलाकर सेवन करने से पेशाब की रुकावट दूर होती है! 
  5. ककड़ी को मिंगी के साथ घोटकर पिलाने से पथरी रोग में लाभ पहुंचता है! 
TAGS: मुत्रकारक, वातकारक, पित्र का शमन, उल्टी, जलन, थकान, प्यास, रक्तविकार, मधुमेह, पेशाब, पथरी

0 comments:

Post a Comment

Followers

Powered by Blogger.

अमूल्य कथन

1 Amla a day = No Doctor
1 Lemon a day = No Fat
3 liters of Water per day = No Diseases
5 Tulsi Leafs a day = No Cancer
1 Cup milk a day = No bone Problem

Popular Posts