Monday, 13 July 2015

Benefits of Raisins ( Munakka ) in Hindi

मुनक्का के फ़ायदे

मुनक्कों से तो हम सब  परिचित   हैं | इसकी प्रकृति गर्म होती है | इसका प्रयोग करने से प्यास शांत हो जाती है व यह गर्मी और पित्त को ठीक करता है | यह पेट और फेफड़ों के रोगों में भी बहुत लाभकारी है | आज हम जानेंगे मुनक्कों से विभिन्न रोगों का उपचार -

1) - 10 -12 मुनक्के धोकर रात को पानी में भिगो दें | सुबह को इनके बीज निकालकर खूब चबा -चबाकर खाएं , तीन हफ़्तों तक यह प्रयोग करने से खून साफ़ होता है तथा नकसीर में भी लाभ होता है |

2) - 5 मुनक्के लेकर उसके बीज निकल लें , अब इन्हें तवे पर भून लें तथा उसमें कालीमिर्च का चूर्ण मिला लें |  इन्हें कुछ देर चूस कर चबा लें ,खांसी में लाभ होगा |

3) -  बच्चे यदि बिस्तर में पेशाब करते हों तो उन्हें 2 मुनक्के बीज निकालकर व उसमें एक-एक काली मिर्च डालकर रात को सोने से पहले खिला दें , यह प्रयोग लगातार दो हफ़्तों तक करें , लाभ होगा |

4) -   पुराने बुखार के बाद जब भूख लगनी बंद हो जाए तब 10 -12  मुनक्के भून कर   सेंधा नमक व कालीमिर्च मिलाकर खाने से भूख बढ़ती है |

5) -  यदि  किसी को कब्ज़ की समस्या है तो उसके लिए शाम के समय 10 मुनक्कों को साफ़ धोकर  एक  गिलास दूध में उबाल लें फिर रात को सोते  समय  इसके बीज निकल दें और मुनक्के खा लें तथा ऊपर से गर्म दूध पी लें , १इस प्रयोग को नियमित करने से लाभ स्वयं महसूस करें | इस प्रयोग से यदि किसी को दस्त होने लगें तो मुनक्के लेना बंद कर दें |  

6) -  मुनक्के के सेवन से कमजोरी मिट जाती है और शरीर पुष्ट हो जाता है |

7) -  मुनक्के में लौह तत्व [ Iron ] की मात्रा अधिक होने के कारण यह [ Heamoglobin ] खून के लाल कण को बढ़ाता है अतः रंग को है |

8) -  4-5 मुनक्के पानी में भिगोकर खाने से चक्कर आने बंद हो जाते हैं |

9) Benefits of Raisins (Munakka) for Urinary Infections Problem in Hindi

जिसको बार बार पेशाब आने की समस्या हो, रुक रुक के पेशाब होता हो, वे 8 – 10 मुनक्के और 10 – 20 ग्राम मिश्री को पीसकर छाछ के साथ सेवन करे !

10) Benefits of Munakka for Heart Problem in Hindi

ह्रदय सम्बन्धी समस्या में मुनक्के का प्रयोग -

ह्रदय के लिए मुनक्का बहुत लाभकारी है ! ह्रदय धड़कन बदने या ह्रदय में दर्द होने पर 8 – 9 मुनक्का और 2 लौंग पानी में उबले ! 

मुनक्का को मसलकर उस पानी को छान ले ! इस पेय को चाय की तरह प्रयोग करने से ह्रदय की घबराहट व दर्द में लाभ मिलेगा !

11) Benefits of Munakka for Cough Problem in Hindi

खासी में मुनक्के का प्रयोग 

यदि आपको सुखी या कुक्कर ख़ासी की शिकायत हो तो मुनक्का बीज रहित, कालीमिर्च , पिप्पली व मिश्री का समभाग लेकर चटनी जैसा बना ले ! 

जब यह मिश्रण थोडा सुख जाये तो इसकी गोलिया बनाकर रख ले ! इन गोलियों को चूसने से हर प्रकार की खांसी से मुक्ति मिलेगी !

12) Benefits of Munakka for Acidity in Hindi

एसिडिटी (अम्ल – पित्त) में मुनक्के का प्रयोग

यदि आप एसिडिटी से परेशान है तो मुनक्के को पिस कर ह्र्र्ड के पाउडर के साथ सुबह – शाम पानी के साथ सेवन करे !

इस प्रयोग से Acidity ( अम्ल – पित्त ) के साथ – साथ पेट क भारीपन व अफारा से भी मुक्ति मिलेगी !

13) Benefits of Munakka for Mouth Problem in Hindi

मुख रोग में मुनक्के का प्रयोग

मुंह में छाले पद गये हो तो जामुन के 10 – 15 पत्ते व 10 -15 मुनक्के लेकर कुचल ले ! अब इन्हें पानी में पकायें ! 

जब चौथाई भाग शेष रह जाये तो छानकर इस पानी से कुल्ला करे ! इस प्रयोग से मुंह के छाले तथा मुख के अन्य रोग मिटेंगे !

14) Benefits of Munakka for Not Hunger Problem in Hindi

भूख न लगने में मुनक्के का प्रयोग

भूख कम लगती हो तो रात को सोने से पहले मुनक्के को दूधके साथ उबालकर प्रयोग करे !इसके लगातार सेवन से भूख भी बढेगी और पेट भी साफ़ रहेगा !

    0 comments:

    Post a Comment

    Followers

    Powered by Blogger.

    अमूल्य कथन

    1 Amla a day = No Doctor
    1 Lemon a day = No Fat
    3 liters of Water per day = No Diseases
    5 Tulsi Leafs a day = No Cancer
    1 Cup milk a day = No bone Problem

    Popular Posts