Saturday, 18 July 2015

रोग प्रतिरोधक शमता बढ़ाने का आयुर्वेदिक इलाज 


  1. गर्म पानी के साथ नींबू और शहद का मिश्रण बनाकर सेवन करके से प्रतिरोधक शमता बढती है !
  2. लौंग का सेवन शरीर की प्रतिरोधी शमता को बढाता है और रक्त शुद्ध करता है !
  3. छोटे बच्चो को दूध से पहले शहद चटा दे, फिर दूध पिलाए ! ये रोग निरोधक शमता बढाता है !
  4. लहसुन के सेवन से शरीर में टिसेल्स, फैगोसाइट्स, लिंफोसाट्स आदि प्रतिरोधी तत्व बढ़ते है और शरीर की प्रतिरोधी शमता बढ़ जाती है ! इससे किसी भी प्रकार के संक्रमन का प्रभाव शरीर पर तुरंत नही होता !

0 comments:

Post a Comment

Followers

Powered by Blogger.

अमूल्य कथन

1 Amla a day = No Doctor
1 Lemon a day = No Fat
3 liters of Water per day = No Diseases
5 Tulsi Leafs a day = No Cancer
1 Cup milk a day = No bone Problem

Popular Posts