Wednesday, 21 September 2016

Ayurvedic Benifites of Ashwagandha in Hindi

मोटापे के लिए अशवगन्धा का प्रयोग

जिनको मोटापे की शिकायत है वे अशवगन्धा के 1 – 1 पत्तो को मसलकर सुबह, दोपहर, शाम गरम पानी के साथ तीन दिनों तक पिये ! 15 दिन के बाद फिर ऐसा ही प्रयोग करे !
इसके साथ ही योग करे और खान – पान पर सयंम बरतें ! इससे कुछ ही दिनों में मोटापा कम हो जायेगा ! 

दर्द व सुजन में अशवगन्धा का प्रयोग

जिनको Arthritis है, दर्द है, सुजन है वे अशवगन्धा के पत्तो को उबालकर सेंधा नमक डालकर पकाकर सुजन वाली जगह की सिकाई करे ! इससे सुजन कम हो जाएगी ! गुटने आदि में दर्द है तो अशवगन्धा के बड़े पत्तो में कोई दर्द का तेल लगाकर, गरम कर उस जगह पर बांधे इससे दर्द में आराम मिलेगा !

ह्रदयशूल में अशवगन्धा का प्रयोग

जिनको Angina Pain है, ह्रदयशूल है, वे अर्जुन की छाल व अशवगन्धा को बराबर मात्रा में मिलाकर पाउडर सुबह – शाम सेवन करे ! इससे ह्रदयशूल की परेशानी दूर होगी और ह्रदय को ताकत भी मिलेगी !
खांसी में अशवगन्धा का प्रयोग
जिनको खांसी की शिकायत है वे अशवगन्धा की जड़ का काढ़ा बनाकर पिये ! इससे कुछ ही दिनों में खांसी ठीक हो जाएगी ! खांसी के लिए ये दिव्य औषधि है !

कमजोरी में अशवगन्धा का प्रयोग

जिनको कमजोरी की शिकायत है वे अशवगन्धा का पाउडर कर 1 – 1 चम्मच सुबह – शाम दूध के साथ सेवन करे ! इससे शरीर की ताकत बढ़ेगी, स्फूर्ति आएगी ! जिन पुरुषो को प्रमेह की शिकायत है, औरतो को प्रदर है, कमजोरी है धातु रोग है, उनके लिए भी यह बहुत ही लाभकारी है !

कमर दर्द में अशवगन्धा का प्रयोग

जिनको कमर दर्द की शिकायत है वे अशवगन्धा का पाउडर सुबह – शाम नियमित रूप से सेवन करे ! इससे कमर दर्द में आराम मिलेगा !

0 comments:

Post a Comment

Followers

Powered by Blogger.

अमूल्य कथन

1 Amla a day = No Doctor
1 Lemon a day = No Fat
3 liters of Water per day = No Diseases
5 Tulsi Leafs a day = No Cancer
1 Cup milk a day = No bone Problem

Popular Posts